Wednesday, 2 September 2009

जी चाहता है...

कतल करने को जी चाहता है...
जान हरने को जी चाहता है॥
देखि जो उनकी आंखों में कातिलाना वहशत...
ख़ुद ही मरने को जी चाहता है...

No comments:

Post a Comment